किसी भी कीट से आप अपनी फसल को कैसे बचायें ?

0
2206
views

किसी भी कीट से आप अपनी फसल को बचायें

किसान भाई आप रबी के फसल बोये एक महीने से ज्यादा हो गया है , अभी आपके फसल पर कीट और रोग का प्रकोप हो सकता है | इसलिए आप को पहले से तैयार होना जरुरी है | लेकिन कभी – कभी किसान जानकारी के अभाव में किसान व्यर्थ में पैसा खर्च कर देते है लेकिन कुच्छ हासिल भी नहीं होता है | इस लिए किसान समाधान आप के लिए कीट की जानकारी उसका नुकसान तथा उपाय ले कर आया है |

मटर फली छेदक (पी.पाड बोरर)

इस कीट की इल्लियाँ लोबिया व मटर की फलियों में छेदकर दोनों को खा जाती है |

प्रबंधन

ग्रसित फलियों को इकट्ठा कर नष्ट कर दें |

बी.टी. 1 ग्राम / लीटर या कार्बेरिल 50 डब्ल्यू पी 2 ग्राम / लीटर या एमामेकटिन बेंजोएट 5 एस.जी. 1 ग्राम / 2 लीटर का छिड़काव करें |

युबलेमा इल्ली

इस कीट की इल्लियां के फूलों को जाला बनाकर लपेटती हैं तथा बाद में खा जाती हैं |

प्रबंधन

जल में लपेटे हुए फूलों के गुच्छों को नष्ट कर दें |

यह भी पढ़ें   धान की फसल में हानिकारक कीड़ों के बारे में बताएगा यह उपकरण

इल्लियों को जाला बनाने से पहले नीम बीज अर्क (4प्रतिशत) या कार्बेरिल 50 डब्ल्यू पी. 2 ग्राम / लीटर या बी.टी. 1 ग्राम / लीटर के छिड़काव से नियंत्रण करें |

सेम फली छेदक (बीन पाडबोरर)

इस कीट की इल्ली सब्जी के फल्लियों में छेड़कर दानों को खा जाती है | इस कीट की रोकथाम के लिए स्पिनोसेड 45 एस.सी. 1 मि.ली. / 4 लीटर या एमाएमेक्तिम बेन्जोएट 5 एस.जी. 1 ग्राम / 2 लीटर का इस्तेमाल करें |

फली छेदक बग (पाड बग)

इस बाग के शिशु व वयस्क दोनों ही लोबिया व सेम की फसल की फलियों व कोमल प्ररोहों से रस चूसते हैं |

इसके नियंत्रण के लिए डाइमेंथोएट 30 ई.सी. 2 मि.ली. / लीटर या इमिडाक्लोप्रिड 17.8 एस.एल. 1 मि.ली. / 4 लीटर या इंडोसल्फान 35 ई.सी. 2 मि.ली. / ली. का छिडकाव करें |

चेंपा (एफिड)

काले रंग के चेपा के शिशु व वयस्क लोबिया, सेम, मटर, व फ्रेंचबीन की पत्तियां व अन्य कोमल भागों से रस चूसकर पौधों को हानि पहुंचाते हैं |

प्रबंधन

  1. लेडी बर्ड भृंग का संरक्षण करें |
  2. नीम बीज अर्क (5 प्रतिशत) या किवनलफोस 25 ई.सी. 2 मि.लि. / लीटर या इमिडाकलोप्रिड 17.8 एस. एल. 1 मि.ली. / 4 लीटर का छिडकाव करें |
यह भी पढ़ें   तने में छेद करने वाले तना वेधक कीट से फसल सुरक्षा

तना मक्खी (स्टेम फ्लाई)

इस मक्खी के शिशु मटर व लोबिया की पत्ती की शिरा में सुरंग बनाते हुए पौधों की शाखा व मुख्य तने तक घुसकर फसल को हानि पहुंचाते हैं |

प्रबंधन

फल लगने से पहले कार्बोफ्युरान 3 जी. 25 कि.ग्रा. / हेक्टेयर या फिप्रोनिल 0.3 जी.18 कि.ग्रा. / हेक्टेयर का प्रयोग करें |

पत्ती सुरंगक / (लीफ माइनर)

इस कीट के शिशु मटर की पत्तियों के हरे पदार्थ को खाकर सफ़ेद रंग की टेढ़ी – मेढ़ी सुरंगे बनाते हैं |

प्रबंधन

ग्रसित पत्तियों को इक्कठा कर नष्ट कर दें |

डाइमेथोएट 30 ई.सी. 2 मि.ली./लीटर या इमिडाक्लोप्रिड 17.8 एस.एल. 1 मि.ली./ 3 लीटर का छिडकाव करें |

यह भी पढ़ें: कीटनाशक दवाओं के रासायनिक एवं कुछ व्यापारिक नाम

यह भी पढ़ें :धान की फसल में एकीकृत कीट प्रबन्ध

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here