किसान क्रेडिट कार्ड के लाभ, प्राप्त करने के लिए प्रकिया एवं विशेषताएं

25
34095
views

किसान क्रेडिट कार्ड के लाभ, प्राप्त करने के लिए प्रकिया एवं विशेषताएं

किसान क्रेडिट कार्ड योजना के लाभ –

  • सरल वितरण प्रक्रिया
  • नकद आपूर्ति के लिए बहुत ही आसान प्रक्रिया
  • प्रत्येक फसल के लिए ऋण हेतु आवेदन की आवश्यकता नहीं
  • किसानों के लिए किसी भी समय ऋण की उपलब्धता सुनिश्चित करना व किसानों के लिए ब्याज़ के बोझ को घटाना
  • किसानों की सुविधा और विकल्प के अनुसार खाद और उर्वरक की खरीद करना।
  • डीलर से नकद खरीद पर छूट
  • 3 वर्षों तक ऋण सुविधा- हर मौसम में मूल्यांकन की आवश्यकता नहीं
  • कृषि आय के आधार पर अधिकतम ऋण सीमा को बढ़ाना
  • ऋण सीमा के भीतर कई बार राशि का निकालना संभव
  • फसल कटाई के बाद अदायगी का प्रावधान
  • कृषि अग्रिम के अनुसार ब्याज़ दर लागू
  • कृषि अग्रिम के अनुसार प्रतिभूति, मार्जिन एवं प्रलेखन नियम होंगे

किसान क्रेडिट कार्ड प्राप्त करने की प्रक्रिया

  • अपने नज़दीकी सार्वज़निक क्षेत्र के बैंक से सम्पर्क कर ज़ानकारी हासिल करें।
  • योग्य किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड दिया जाएगा और उन्हें पासबुक दिया जाएगा। पासबुक पर किसान का नाम व पता, भूमि ज़ोत का विवरण, उधार सीमा, वैधता अवधि, एक पासपोर्ट आकार का फोटो होगा जो पहचान पत्र का काम करेगा और लेन-देन का लेखा-ज़ोखा रखेगा।
  • खाते का उपयोग करते समय उधारकर्त्ता को अपना कार्ड-सह-पासबुक दिखाना होगा।
यह भी पढ़ें   कपास में बिजाई के लिए बीटी कॉटन की हाइब्रिड किस्में 

योजना की विशेषताएँ

यह योजना देशभर के सभी किसान क्रेडिट कार्ड धारकों की मृत्यु या स्थायी अक्षमता को शामिल करती है।

शामिल किये जाने वाले लोगः 70 वर्ष आयु तक के सभी किसान क्रेडिट कार्ड धारक।

इस योजना के अंतर्गत शामिल लाभ इस प्रकार है-

दुर्घटना के कारण मृत्यु होना जो कि बाह्य, हिंसक तथा दृष्टिगत कारणों से हो: 50,000 रुपये

  • स्थायी पूर्ण अक्षमता: 50,000 रुपये
  • दो अंग या दोनों आँख या एक अंग तथा एक आँख खो जाने पर: 50,000 रुपये
  • एक अंग या एक आँख खोने पर: 25,000 रुपये
  • मास्टर पॉलिसी की अवधिः 3 वर्षों के लिए मान्य।

 बीमे की समय अब्धि

जिन मामलों में वार्षिक प्रीमियम भरा जाना हों उनमें बीमा कवर हिस्सा लेने वाली बैंकों से प्रीमियम प्राप्त होने की तारीख से एक वर्ष की अवधि के लिए प्रभावी होगा। तीन वर्ष की अवधि वाले बीमा के मामले में, बीमा काल प्रीमियम प्राप्ति की तिथि से तीन वर्षों तक होगा।

यह भी पढ़ें   जानें क्या है आर्गेनिक जैविक खाद बनाने का घरेलु तरीका

प्रीमियम एवं अन्य सम्बंधित जानकारी

  • प्रत्येक किसान क्रेडिट कार्ड धारक के लिए लागू 15 रुपये वार्षिक प्रीमियम में से 10 रुपये बैंक तथा 5 रुपये किसान क्रेडिट कार्ड धारक को देना होता है।
  • संचालन विधिः क्षेत्रवार आधार पर व्यवसाय की सेवा चार बीमा कम्पनियों द्वारा की जा रही है। युनाइटेड इण्डिया इंश्योरेंस कंपनी, आँध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, अंडमान एवं निकोबार, पुड्डेचेरी, तमिलनाडु तथा लक्षद्वीप को कवर करेगी।
  • लागू करने वाली शाखाओं को बीमा प्रीमियम मासिक आधार पर जमा करना होगा एवं उसके साथ उन किसानों की सूची भी देना होगी जिन्हें उस महीने के दौरान किसान क्रेडिट कार्ड जारी किये गये हों।
  • भुगतान के दावा की प्रक्रियाः मृत्यु, अक्षमता के दावों के मामलों में तथा डूबने से मृत्यु होने पर:दावे का निपटारा बीमा कंपनियों द्वारा किया जाएगा। इसके लिए एक अलग प्रक्रिया का पालन करना होगा।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना जानने के लिए क्लिक करें 

25 COMMENTS

  1. क्या बकवास है ये । सरकार कृषि लोन देकर किसानों को खेती करने के लिए प्रेरित करती है आपलोग सुझाव देते हैं प्रक्रियायें बताते हैं लेकिन कभी सोंचा है या छानबीन करने की कोशिश किये है कि हमलोग ये सुविधाएं देते हैं वो सुविधायें देते लेकिन इसका परिणाम क्या निकलता है? ना तो आपलोग छानबीन करते हो और ना ही करना चाहते हो । आपको ये भी पता होना चाहिए कि बैंक क्या कहती है … बैंक सीधे तौर पर यह कह कर अपना पल्ला झाड़ लेती है कि अभी उपर से किसान क्रेडिट कार्ड देने की स्कीम आई नही है और संबंधित विभाग या आप जैसे विभाग को फोन किया जाता है तो साफ तौर वहाॅ भी यही कहकर टाल दिया जाता है कि अंतिम निर्णय लेने का अधिकार सिर्फ बैंक को ही है तो फिर आपलोगों का ये ड्रामा क्यूं ? मै पूछता हूॅ कि आखिर हमजैसे लोगों को ये सुविधाए क्यूं नही दी जाती है कारण क्या है ?मैं पिछले एक साल से बैंक का चक्कर लगा रहा हूॅ लेकिन बैंक ने एकबार भी नही कहा है कि कागजात लाइये अब लोन दिया जा रहा है … क्यूं? अरे कारण भी तो बताओ ? मुझे आपलोगों से और तत्कालीन सरकार से गुजारिश है कि बस ऑफिस आओ बैठो ऐश करो और शाम को घर जाओ यूं फालतू के सुझाव देने का ढोंग मत करो अन्यथा अगली बार ऐसा लिखुंगा कि कभी लिखने से भी डर लगेगा …

  2. प्रधान मन्त्री फसल बिमा योजना 2016 से शुरू हुई 2016 मे जिसने बिमा करवाया उनको फसल का कलेम आज तक नही मिला जबकी बरानी एरीया सुखे से प्रभावीत था

    • sir aap kisi bhi company ka tractor le sakte hain….jab aap form bharenge tab aapko aapke jile main sabhi company ke dealear ki list di jayegi aap aapni pasand ka tractor wanha se le sakte hain 8602332813 par call karen aadhik jankari ke liye

  3. Pardhanmantri fasal bima karya tha 2016 karib me ak kishan ne 1 hekter or 1kishan ne 5 hekter ka or bima mila h 1 hekter ko 104000 or 5 hekter wale kishan ko 20000 ye kesi skim h btaeye

  4. सरकार की सतँ ईतनी होती है की कीसान समझही नही पाता की कया करे सिफँ दिखावा है.ये सबसिडी ये सबसीडी ईतना 2/8बिगा जमीन अरे राजस्थाान मे लगभग सभी कीसानो के पास 30/40बिगा जमीन है.जो सिफँ1%को भी फायदा नही मीलता ….फीर अफसरो से पूछो तो एक अलग बताता है ऐक अलग

  5. फसल बिमा करने का 1 बिगा जमीन का कितना पेसा लगता है

  6. दिसम्बर २०१७ से पंजाब नेशनल बैंक mandaroad allahabad में के सी सी हेतु सभी आवश्यक अभिलेख जमा है. फील्डऑफिसर द्वारा सर्वे भी हो चुका है .बैंक में दलाल सक्रिय हैं . जिनके माध्यम से ही के सी सी बनती है. मैंने सीधे
    बैंक से संपर्क किया. लगातार बैंक का चक्कर लगाया.आज १४ जुलाई २०१८ खरीफ का पिक पीरियड चल रहा है. बताया
    जाय कि kcc कब संग्सन होगी.कोन मेरी हेल्प करेगा .सरकार किसान के पक्ष में है या नहीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here