ऋण मोचन योजना के लिए किसानों के लिए जाने क्या है पात्रता

0
4277
views
प्रतीकात्मक चित्र

ऋण मोचन योजना के लिए किसानों के लिए जाने क्या है पात्रता

धारित भूमि के आधार पर पात्रता मापदण्ड क्या है ?
किसान के स्वामित्व वाली समस्त भूमि का कुल क्षेत्रफल 2 हेक्टेयर से अधिक नहीं होना चाहिए |
किसानों के लिये गये ऋणों के संदर्भ में पात्रता मानदण्ड क्या है ?
उत्तर प्रदेश में निवास करने वाले किसान जिनकी कृषि भूमि उत्तर प्रदेश में स्थित हो एवं उनके द्वारा उत्तर प्रदेश स्थित बैंक शाखा से फसली ऋण लिया गया हों |

किसान के स्वामित्व की विभिन्न भूमि का कुल क्षेत्रफल 02 हेक्टेयर से अधिक नहीं होगा |

येसा किसान जिसकी फसली ऋण की रिजर्व बैंक के दिशा – निर्देश के अनुसार प्राकृतिक आपदाओं के होने के कारण पुनसंरचना कर दी गयी हो, इस योजना के अन्तर्गत आच्छादित होगा |

सरकार द्वारा राजस्व अभिलेखों के आधार पर पट्टे पर दी गयी भूमि पर खेती करने के लिए किसान द्वारा लिया गया फसली ऋण |

ऋण प्राप्त करने की कट आफ डेट क्या है ?
एसे लघु एवं सीमान्त किसानों को जिनके द्वारा फसल ऋण दिनाक 31 मार्च 2016 या इसके पूर्व ऋण प्रदाता संस्थाओं से प्राप्त किया गया है |
अधिकतम कितनी धनराशि का ऋण मोचन प्रदान किया जाना है ?
राज्य सरकार द्ववारा रु. 1 लाख तक की धान राशि का ऋण मोचन प्रदान किया जायेगा |
 क्या मेरी ऋण मोचन की धनराशि में मूल धन राशि /मूल धनराशि एवं ब्याज सम्मिलित है ?
ऋण मोचन धनराशि की गणना के प्रयोजना हेतु दिनांक 31 मार्च, 2016 को बकाया (ब्याज सहित) से वित्तीय वर्ष 2016 -17 की अवधि में किसान द्वारा आहरित धान राशि या नई स्वीकृतियों पर विचार किये बिना वित्तीय वर्ष 2016 – 17 की अवधि (दिनांक 31 मार्च, 2016 के पश्चात् और दिनांक 31 मार्च, 2017 तक) में किसान से प्राप्त प्रतिभुगतान को घटा दिया जायेगा |
फसली ऋण मोचन योजनान्तर्गत ऋण मोचन हेतु कौन – कौन से दस्तावेज प्रस्तुत किये जाने होंगे ?
आधार कार्ड (यदि उपलब्ध हो), यदि यह उपलब्ध न हो तो किसान द्वारा इसे जागरूकता शिविरों के माध्यम से प्राप्त किया जाय|

जिला स्तरीय समिति एसे सभी किसानों की सूचि जिन्होंने सूचना पत्र प्राप्त किया है, लेकिन ‘आधार विवरण’ अंकन हेतु सहमति नहीं दी है , एसी सूची पोर्टल से प्राप्त करेगी |

जिला स्तारिय समिति निर्धारित दिशा निर्देशों के अनुसार उनकी अर्हता पर निर्णय लेगी | एसी अर्ह किसान पूर्व में प्रारम्भ की गयी प्रक्रिया के अनुसार तृतीय जागरूकता अभियान के अन्तर्गत लगे कैम्प में ऋण – मोचन विवरण पत्र प्राप्त करेंगे |

 किसानों द्वारा ग्राम एवं ब्लाक स्तर सर्वप्रथम किस्से सम्पर्क स्थापित किया जाय ?
किसान सर्वप्रथम संबंधित शाखा से संपर्क करें जिससे उनके द्वारा ऋण लिया गया है | कोइ शिकायत होने पर तहसील / जनपद स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित किये जा रहे है जिनके दूरभाष नम्बर जिला कृषि अधिकारी कार्यालय से प्राप्त किये जा सकते हैं |
यदि किसान उत्तर प्रदेश के बहार का निवासी है, लेकिन उसकी कृषि भूमि उत्तर प्रदेश स्थित बैंक से ऋण प्राप्त किया हो, तो क्या एसा किसान योजनान्तर्गत पात्र होगा ?
नहीं | एसे किसान ऋण मोचन हेतु पात्र नहीं होंगे |
 क्या कोइ किसान, जिसने विभिन्न बैंकों से रु. 1 लाख से कम फसली ऋण लिया है योजनान्तर्गत पात्र होगा ?
हाँ,

यदि किसान द्वार एक से अधिक बैंकों से विभिन्न फसलों हेतु विभिन्न कृषि भूमियों को बंधक रखे जाने के सापेक्ष ऋण लिया गया है, तो ऋण – मोचन अधिकतम 1 लाख रूपये की सीमा तक आनुपातिक रूप में ही अनुमन्य होगा |

 कृषि से सम्बद्ध कार्यकलापों का क्या तात्पर्य है ?
कृषि उत्पाद ऋण जिसमें वेयर हॉउस रिसीट | गैर – परम्परागत खेती जैसे : ग्रीनहॉउस फार्मिंग मत्स्य पालन हेतु दिये गये सावधि ऋण |

यह भी पढ़ें   उत्तरप्रदेश में धान विक्रय किसान कहाँ एवं किस प्रकार करें पंजीयन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here